Sunday, October 2, 2022
HomeBiographyनरेंद्र मोदी -पर जीवनी हिंदी पे परिवार,राजनीती, ( Narendra Modi hindi biography)

नरेंद्र मोदी -पर जीवनी हिंदी पे परिवार,राजनीती, ( Narendra Modi hindi biography)

माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी हमारे देश के 14वें प्रधानमंत्री हैं। इन्होंने अपना प्रारंभिक जीवन काफी संघर्ष में गुजारा है,
नरेंद्र मोदी जी का जन्म 17 सितंबर 1950ईस्वी को गुजरात की वार्ड नगर में एक छोटे से मध्यवर्गीय परिवार में हुआ था

उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा बोर्ड नगर से प्राप्त की एवं उन्होंने इस बात को भी प्रमाणित किया कि अगर आप जिंदगी में आगे बढ़ना चाहते हैं तो चाहे आप किसी भी धर्म जाति या किसी भी वर्ग से आते हो फिर भी कोई फर्क नहीं पड़ता है बस आपके अंदर जुनून होना चाहिए किसी भी चीज को पाने का ।

इनका बचपन काफी कष्टों में बीता है यह अपने पिता के साथ चाय की दुकान पर काम किया करते थे और लोगों को चाय बेचा करते थे ।

अभी इनके परिवार में इनके भाई एवं इनकी मां है आए दिन सोशल मीडिया पर इनकी मां और नरेंद्र मोदी जी की तस्वीरें वायरल होती रहती है कुछ दिन पहले एक तस्वीर आई थी जिसमें नरेंद्र मोदी जी अपनी मां से 100 ले रहे थे उनकी मां ने 100 आशीर्वाद के रूप में अपने बेटे को दिया और कहा इसी तरह हमारा नाम रोशन करते रहे और देश के लिए अच्छा काम करते रहो ।

हालांकि नरेंद्र मोदी जी की एक पत्नी भी है जिनके बारे में कभी भी नरेंद्र मोदी जी ने मीडिया को कुछ नहीं कहा ।
नरेंद्र मोदी जी के पिता का नाम स्वर्गीय मूलचंद मोदी हैं एवं उनकी माता का नाम हीराबेन मोदी हैं नरेंद्र मोदी जी 6 भाई बहन है 

उनकी पत्नी का नाम जसोदा बहन है जसोदा बेन मोदी है ।

नरेंद्र मोदी जी का राजनीतिक जीवन



नरेंद्र मोदी जी राजनीति में आने से पहले चाय की दुकान पर बैठा करते थे उन्होंने जब अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी की तो वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मैं 8 साल की उम्र में भर्ती हो गए ।

माननीय नरेंद्र मोदी जी कभी शादी नहीं करना चाहते थे इसलिए उन्होंने 17 साल की उम्र में पूरे देश का भ्रमण किया लगातार 2सालों तक और उन्होंने योग एवं अन्य शिक्षाओं को ग्रहण किया ।

नरेंद्र मोदी जी स्वामी विवेकानंद द्वारा स्थापित आश्रमों का भी भ्रमण किया जहां पर उन्हें कर्म एवं साधना की शिक्षा दी गई ।

20 साल की उम्र में 1970 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रति लगाव उनका बढ़ता गया और वह एक पूर्णकालिक प्रचारक बन गए और उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की छात्रों का संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को ज्वाइन किया और उसके बाद वह लगातार विकासशील कार्य करते रहे जिसके परिणाम स्वरूप उन्हें इसका प्रमुख नेता चुन लिया गया ।
उन्होंने बैचलर डिग्री स राजनीति शास्त्र से लिया एवं मास्टर डिग्री गुजरात यूनिवर्सिटी से प्राप्त किए इससे साफ स्पष्ट होता है कि राजनीति एवं लोक कल्याण के प्रति उनका लगाव काफी पहले से था ।

नरेंद्र मोदी जी कैसे बने प्रधानमंत्री ?



जैसा कि हमें पता है कि नरेंद्र मोदी जी का जीवन काफी दुखों से भरा हुआ था और उनकी राजनीति एवं लोक कल्याण के प्रति लगाव भी जगजाहिर था जब वह चाय की दुकान पर बैठा करते थे तो वहां पर कुछ नेता आपस में राजनीति की बातें किया करते थे उन बातों से प्रेरित होकर उन्होंने राजनीतिक शास्त्र को ही अपना प्रमुख विषय बनाया एवं इसके फलस्वरूप ही उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला जब वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े हुए थे तो वहां पर देश के प्रमुख नेताओं का भी आना जाना लगा रहता था वह वहां पर काफी कुछ सीखते थे एवं लाल कृष्ण आडवाणी जी से काफी प्रभावित थे ।
1987 में उन्होंने बीजेपी ज्वाइन किया और वह गुजरात ब्रांच पार्टी के जनरल सेक्रेटरी बन गए यह उनका पहला चरण था राजनीतिक करियर में उन्होंने इस पद पर काफी विकासशील कार्य किए जिनके फलस्वरूप जितने भी बड़े बीजेपी के नेता थे उनके चहेते बन गए थे नरेंद्र मोदी जी और 1988 में बीजेपी गुजरात में एक अच्छी सरकार के रूप में उभर कर आई ।
एवं इसके बाद लगातार नरेंद्र मोदी जी के जीवन में उतार-चढ़ाव आता गया और 1995 में उन्हें सेक्रेटरी बीजेपी नेशनल यूनिट का बना दिया गया ।
इसके साथ ही उन्होंने अपनी जिंदगी में दो महत्वपूर्ण यात्राएं की जो बीजेपी को काफी बल दिया जिसमें पहली यात्रा 1998 में सोमनाथ से अयोध्या रथ यात्रा जिसमें लालकृष्ण आडवाणी जी के साथ उन्होंने या यात्रा पूरी की इसके बाद कन्याकुमारी से कश्मीर तक मुरली मनोहर जोशी के साथ भी उन्होंने यात्रा की वह काफी महत्वपूर्ण दौर था बीजेपी को देश में स्थापित होने में काफी बल मिला इस कार्य से ।
अब वक्त आ गया था जब उन्हें एक बड़ा कार्यभार दिया जाने वाला था 2001 में गुजरात में इलेक्शन हुए जिसमें माननीय नरेंद्र मोदी जी की जीत हुई और वह गुजरात के मुख्यमंत्री बन गए और उन्होंने शपथ 7अक्टूबर 2001 को लिया गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में ।
उन्होंने कई बार काफी कम समय में अपनी जीत को दर्ज किया है इसका एक सबसे बड़ा उदाहरण आपको 2014में देखने को मिला जिसमें नरेंद्र मोदी जी की एक आंधी सी आ गई थी और देशभर के लोग उन्हें जानने लगे उनका ऐसा प्रभुत्व उनका ऐसा व्यक्तित्व है कि सभी लोग नरेंद्र मोदी जी को अपना अगला प्रधानमंत्री मान लिए थे और 2014 से 2019 तक लगातार उन्होंने प्रधानमंत्री के रूप में भारत की सेवा की इसके बाद 2019में भी उनकी दोबारा जीत हुई उन्होंने अपने विरोधियों विपक्षियों को दिखा दिया कि जनता अब समझदार हो चुकी है वह उन्हीं लोगों को मौका देती है या उन्हीं पार्टियों को मौका देती है जो जनता के हित में कुछ विशेष कार्य करें ।
 आज हमारा देश करोना वायरस जैसे विश्व महामारी से लड़ रही है ।
धन्यवाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का है जो संकट की घड़ी में हमारे देश का साथ नहीं छोड़े हैं और लगातार अपनी बुद्धि से भारत की जनता को बचाने में लगे हुए हैं ।
वह एक अच्छे वक्ता भी हैं उन्होंने अपनी एक अलग भाषण कला विकसित की है आज लाखों लोग उनके चाहने वाले हैं सोशल मीडिया पर उनके फॉलोअर्स की कोई कमी नहीं है आज वह पूरे विश्व के लिए एक रोल मॉडल हैं ।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी हमारे प्रेरणा स्रोत है आज हर गरीब का बच्चा यही सोचता है जब हमारे देश के प्रधानमंत्री चाय बेचते हुए देश के प्रधानमंत्री बन सकते हैं तो हम क्यों नहीं एक अच्छे इंसान बन सकते हैं हमें हमेशा अच्छे इंसानों द्वारा बताए गए रास्तों पर चलना चाहिए और जाति धर्म को भुलाकर मानवता धर्म के साथ खड़ा होना चाहिए ।

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

Unknown on